Tuesday 7 October 2008

लेडिज टेलर

यह चुटकी मेरे निकट दुकान करने वाले लेडिज टेलर की प्रेरणा से रची गई है। इस लिए यह रचना उन्ही को समर्पित कर रहा हूँ।
---- चुटकी----
अंग अंग का
ले रहा है नाप,
लेडिज टेलर है
कर दो माफ़।
----गोविन्द गोयल

6 comments:

Anil Pusadkar said...

कर दिया माफ़,मगर अब ज्यादा मत करो तांक-झांक।

Udan Tashtari said...

हा हा!! माफी दी जाती है.

mehek said...

ha ha bahut khub

Suresh Chandra Gupta said...

आप माफ़ करने को कह रहे हैं, और कुछ लेडीज उसे धन्यवाद कह रही हैं.

RAJENDER SONI Gen.Secy. Raj. Pradesh Yuth Congress said...

par is me maafi wali to koi baat hi nahi hai, narad ji aap to baat ko kham-khah hi badha rahe hai

Meri yaad to aati hogi na... said...

मुनीसर क्यों लेडीज टेलर को बदनाम करने पे तुले है
खुस किस्मत है जो ऐसी कला पाई है.....