Friday 24 October 2008

चंदा मामा के यहाँ यान

---- चुटकी-----

चंदा मामा के यहाँ
गया है अपना यान,
शेयर बाज़ार चढेगा
घटेंगे राशन के दाम।
----
सरकार की तरह
मस्त रहो जनाब,
पेट भरे न भरे
देखते रहो ख्वाब।
----
चैनलों पर देखिये
राजनीति के रंग,
नेताओं के नाटक देख
लोग रह गए दंग।
----
जितना जल्दी हो सके
सुरक्षित घर को भाग,
सबके अपने स्वार्थ है
कौन बुझाये आग।

---गोविन्द गोयल

7 comments:

Udan Tashtari said...

चल दो फट से देख कर
कौन कहाँ गुर्राये..
बिन बोले न जाईयो
दओ कछु टिपियाये.

Tarun said...

नारायण नारायण

seema gupta said...

चंदा मामा के यहाँ
गया है अपना यान,
शेयर बाज़ार चढेगा
घटेंगे राशन के दाम।
" chlo shuker hai kuk se kum roteeyon ke lale to nahe pdenge na...bajvan narayan narayan narayan.."

Regards

लवली / Lovely kumari said...

सबके अपने स्वार्थ है
कौन बुझाये आग।

...कितना सही कहा ..कोई यह क्यों नही सोंचता ,कहीं यह आग घर में न आ जाए

रंजना said...

सही कहा....पर भागकर जायें कहाँ ??????
यही तो अपना देश है,यही है अपना भाग्य.

राज भाटिय़ा said...

चंदा मामा के यहाँ
गया है अपना यान,
शेयर बाज़ार चढेगा
घटेंगे राशन के दाम।
बहुत खुब सही फ़रमाया... अब ऊपर से सोना बरसेगा, ओर अगले साल तक गरीबी जड से खत्म, फ़िर से सोने की चिडियां बन जायेगा.... सिर्फ़ इस यान की वजह से
धन्यवाद

Manish said...

chutaki mast - mast hai....