Friday, 10 October, 2008

ऐसे उलटे सीधे गीत

----- चुटकी-----
अधर्म पर धर्म की जीत
अधर्म पर धर्म की जीत,
ऐ सुनो,इस दौर में
कौन गा रहा है
ऐसे उलटे सीधे गीत।

-----गोविन्द गोयल

2 comments:

प्रहार - महेंद्र मिश्रा said...

kya baat hai . dhanyawad.

Suresh Chandra Gupta said...

अब कौन गाता है ऐसे गीत? इस कलियुग में अधर्म धर्म की छाती पर बैठा है ओर उस का गला दबा रहा है. पता नहीं कब धर्म का दम निकल जाए.