Sunday 12 October 2008

जो दम बचा है निकाल लो

----- चुटकी-----
हे! प्रधानमंत्री जी
अब तो संभाल लो,
या जो थोड़ा बहुत
दम बचा है
उसको भी निकाल लो।
----गोविन्द गोयल

No comments: