Wednesday, 10 September, 2008

मुख्यमंत्री के स्टाईल




श्रीगंगानगर के निकट कमीनपुरा में मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया के कई मूड देखने को मिले। उन्होंने मंच पर स्वागत और भेंट देने के लिए आने वालों को कोई खास तवज्जो नहीं दी। उन्होंने ख़ुद हाथ के इशारे से ऐसे बीजेपी नेताओं को मंच से जाने को कहा। एक टिकट मांगने वाले हरभगवान सिंह बराड़ को तो उन्होंने कोई भाव नहीं दिया। मुख्यमंत्री ने उसे मंच से जाने को कहा। जिसे हजारों ने देखा। उन्होंने बीकानेर में सोनिया गाँधी ने जो आरोप लगाये थे उनकी सफाई दी। दोनों हाथों के अंगूठे दिखाते हुए वे बोलीं कि मेरा खजाना खाली नहीं है। श्रीमती सिंधिया ने श्रीगंगानगर जिले के लिए कई एलान किए। अपनी उपलब्धियां बतायीं ,जनता की बलइयां लीं। मौके पर एक साथ कई शिलान्यास और लोकार्पण किए। उनको सुनाने के लिए हजारों की संख्या में लोग आए हुए थे। हैलीपैड पर उन्होंने जनता से मुलाकात की। कई पत्रकार उनसे खास तौर से किसी की मार्फ़त मिलते दिखे। एक महिला पत्रकार ने तो मंच पर मुख्यमंत्री के २ बार चरण छुये प्रशासन आज भी पत्रकारों से खार खाए रहा। पहले तो पुलिस,प्रशासन ने पत्रकारों को मंच के निकट नहीं जाने दिया। इस बारे में काफी विवाद हुआ उसके बाद प्रशासन अपने आप मान गया

4 comments:

संगीता पुरी said...

जानकारी देने के लि धन्यवाद।

Shastri said...

भले कामों के बारें मे सुन कर सकून मिला!!



-- शास्त्री जे सी फिलिप

-- हिन्दी चिट्ठा संसार को अंतर्जाल पर एक बडी शक्ति बनाने के लिये हरेक के सहयोग की जरूरत है. आईये, आज कम से कम दस चिट्ठों पर टिप्पणी देकर उनको प्रोत्साहित करें!! (सारथी: http://www.Sarathi.info)

हरि said...

धन्य हैं राजस्थान की पत्रकार।

Udan Tashtari said...

समाचार देने का आभार.