Sunday, 14 September, 2008

ग़लतफ़हमी के शिकार

----- चुटकी ----
टिकट के असली दावेदार तो


हैं बस दो चार ,

बाकी तो हैं यूँ ही

ग़लतफ़हमी के शिकार।


----गोविन्द गोयल,श्रीगंगानगर

No comments: