Sunday 7 September 2008

वक्त का खेल

-चुटकी-
वक्त भी देखो भाई
क्या क्या खेल दिखाता है,
जो कल तक था
मिस्टर १०%
वह प्रेजिडेंट बन जाता है।
--गोविन्द गोयल,श्रीगंगानगर

2 comments:

Udan Tashtari said...

सही चुटकी.

राजीव जैन Rajeev Jain said...

matlab saaf ki 10% bhi kabhi na kabhi 100% ho sakta hai :)