Monday 1 December 2008

शर्म नैतिकता बाकी है!

---- चुटकी----

इस बात पर
हँसी आती है,
कि पाटिल में
शर्म और नैतिकता
अभी बाकी है।

3 comments:

Udan Tashtari said...

सच में क्या, मुनिवर??

shyam kori 'uday' said...

... प्रसंशनीय अभिव्यक्ति।

सीमा सचदेव said...

हँसी के साथ हैरानी भी होती है......