Wednesday, 27 August, 2008

काम के मगर रूखे

श्री गंगानगर के जिला कलेक्टर आम जन में बेशक अपनी छवि व्यवहार कुशल अधिकारी की नहीं बना सके मगर यह सही है कि वे उनके मिलने वाले हर ज्ञापन पर तुरंत एक्शन लेते हैं। जैसे ही कोई प्रतिनिधि मंडल जिला कलेक्टर श्री भवानी सिंह देथा को किसी की शिकायत या मांगों से सम्बंधित ज्ञापन देतें हैं उसके कुछ मिनट के बाद ज्ञापन सम्बंधित विभाग के अधिकारी को भेज दिया जाता है। जिला कलेक्टर इतने से ही बस नहीं करते वे शाम को उस अधिकारी को फ़ोन करके ज्ञापन पर की गई कार्यवाही की जानकारी लेकर उसे जरुरी आदेश देते हैं। सूत्रों ने बताया की ऐसा हर रोज़ होता है। कलेक्टर अपने पास मजबूरी में कोई कम को पेंडिंग छोड़तें हैं। उनके पास फाइल पहुँचते ही उस पर जरुरी कार्यवाही आरम्भ हो जाती है। इतना कुछ होने के बावजूद जिला कलेक्टर की छवि रूखे कलेक्टर के रूप में है। वे कब किससे कैसा व्यवहार करेंगें कोई नहीं बता सकता। यह बात जिले के सभी अधिकारी भी जानतें हैं और कर्मचारी भी। नगर के कई प्रमुख व्यक्ति उनके रूखे व्यवहार का शिकार होकर अपमानित हो चुके हैं।

No comments: