Tuesday 26 August 2008

"लुट गई दिल्ली"

जी हाँ,कांग्रेस के उन नेताओं की तो दिल्ली लगभग लुट गई जो गत विधानसभा चुनाव भारी अन्तर से हारे थे। कांग्रेस टिकट के दावेदार अब यह समझ चुके हैं कि उनको टिकट मिलने वाली नहीं है। ऐसे नेता अन्तिम हथियार के रूप में अपने बेटे,पत्नी,पुत्रवधू का नाम हाईकमान तक पहुँचने में लगे हैं ताकि उनकी राजनीति समाप्त ना हो। ऐसे नेताओं की बात नहीं बनी तो बगावत के झंडे चारों ओर दिखाई देंगे। सबसे पहले बात श्रीगंगानगर की। यहाँ से कांग्रेस के स्तम्भ श्रीराधेश्याम गंगानगर को नज़रंदाज कर कांग्रेस चुनाव जीतने की कल्पना कर सकती है? नहीं ना। यही स्थिति श्री करनपुर की है। वहां श्री गुरमीत सिंह कुन्नर ऐसी स्थिति में है कि आज के समय उनका कोई मुकाबला नही है। ऐसा ही कुछ नजारा रायसिंहनगर में श्री दुला राम का है। सादुलशहर में श्री महेंद्र सिंह बरार परिवार के अलावा है कोई जो सी पी एम के धुरंदर श्री हेतराम बेनीवाल का मुकाबला कर सके। सूरतगढ़ में तो मीलों को हराने के लिए सब तैयार हैं। अनूपगढ़ नया क्षेत्र है। वहां श्री इन्दोरा की खिचडी पक सकती है क्या?राजनीति को समझने वाले जानते हैं कि ये लीडर टिकट ना मिलने पर चुपचाप घर बैठ कर अपना राजनीतिक जीवन का अंत करने वाले नही है।अपनी आंखों के सामने ये अपनी दिल्ली लुटने देंगे क्या? तो फ़िर क्या होगा? बगावत होगी और क्या। बगावत भी ऐसी की ये लीडर्स कांग्रेस को तो किसी भी हालत में जीतने नहीं देंगे। ख़ुद जीते तो ठीक नहीं तो बीजेपी जिंदाबाद। कांग्रेस जिले में अपने आप को बचाना चाहती है तो उसके पास इन नेताओं को टिकट देने के अलावा कोई चारा नहीं है।
कांग्रेस के सूत्र ने बताया की हाईकमान ने यह तय कर लिया है कि गत चुनाव में जनता ने जिन नेताओं को बहुत अधिक मतों से हराया था उनको चुनाव में टिकट नहीं मिलेगी। आगामी कुछ दिनों में इस इलाके की राजनीति में कई उठा पटक देखने को मिल सकती है।

2 comments:

RAJENDER SONI Gen.Secy. Raj. Pradesh Yuth Congress said...

Goyal Sab i would like 2 say something in da refrence of DILI LUT GAYEE..
i m 100000 time sure dat DILI nahi lutegi, specialy in GANGANAGAR Vidhansabha, Hoga ek hi naam RADHESHYAM RADHEYSHYAM...

RAJENDER SONI Gen.Secy. Raj. Pradesh Yuth Congress said...

Dear Goyal saab in da refrence of DILI LUT GAYEE.. I would like 2 say with 100000 time sure dat Dili nahi lutegi...every oldest leader would be MLA.. and in specialy GANGANAGAR vidhan Sabha, HOGA EK HI NAAM RADHEY SHYAM RADHEY SHYAM...Rajender Soni Gen.secy.Raj.Pradesh yuth congress