Saturday, 16 August, 2008

नकारे हुए लीडर

श्रीगंगानगर जिले में गत विधानसभा चुनाव में तत्कालीन मिनिस्टर राधेश्याम गंगानगर को ३४१४० वोट मिले। उनकी हार ३५९२२ वोट से हुई। श्री करनपुर से कांग्रेस के गुरमीत सिंह कुन्नर को २८०३१ वोट मिले। उनको २१७२९ वोट से हर का मुह देखना पड़ा। केसरीसिह्पुर से कांग्रेस के मिनिस्टर हीरालाल इन्दोरा को २८९९४ वोट मिले उनकी हार २९९२८ वोट के अन्तर से हुई। और आगे चले तो हम देखते है कि इसी प्रकार कांग्रेस की विजय लक्ष्मी बिश्नोई ३५००० से भी अधिक वोट से हारी। ऐसा ही हाल तत्कालीन मिनिस्टर के सी बिश्नोई का हुआ था। उनको केवल २५८५१ वोट मिले वे तीसरे स्थान पर रहे। इतनी बड़ी हार के बावजूद ये सभी लीडर फ़िर से उम्मीदवार बनने के लिए लाइन में लगे हुए है। देखना होगा कि कांग्रेस के बड़े लीडर इनको कितनी तव्वज्जो देतेहै। वैसे तो कांग्रेस के लीडर राहुल गाँधी को आगे लेन की बात करते है। दूसरी तरफ़ वे अपने बुजुर्ग हो चुके लीडर्स से छुटकारा पाना नही चाहते। पता नही उनकी यह कैसी पॉलिसी है। अगर वे राहुल को आगे लेन हेतु गंभीर है तो उनको दूसरे स्थानों पर भी बदलाव करना चाहिए। ताकि कांग्रेसके अन्य लोगो को अवसर मिल सके। वे भी तो सेवा कर मेवा खाना चाहते है। बीजेपी के पास तो लीडर ही नही है। वर्तमान में जो है वे किस काबिल है आगामी चुनाव में उनको और उनकी पार्टी लीडर्स को पता लग जाएगा।

6 comments:

ggganganagar said...

aapka kahana bilkul sahi h. in logo ko sharam nahi aati. janta ne inko nakar diya ye fir se usi janta ke pass jana chahte h had ho gai inki besharmi ki.

aalok kumar

ggganganagar said...

aapne sahi farmaya janab. lekin koi inka kare kaya. hamari halat to in leadaro ne aisi kar rakhi h ki hum na ghar ke h na ghat ke

manindar singh punjab

ggganganagar said...

sir ji ye to har state me h. hare or nakare huye leader bar bar new white chola payjama pahan kar nai botal me purani sharab ki tarah samane aa jate h or fir sam dam dand bhed se ticket kekar janta ki chhati opar mung dalte h.

chaman delhi

Amit Nagpal said...

Bahut achcha prayog hai narad ji aapka. Isi tarah pure brahmand ki khabren ham tak pahunchate rahen aur hamein bhi brahma, vishnu, mahesh ki tarah update karte rahen. Aapko Sadhuwad!
- Amit Nagpal, Editor, Pratap Kesri, Sri Ganganagar.

dalip saharan said...

jin leaders ko gat chunav me nakar diya tha. unko ghar to nahi baiyhana chahiye.unke anubhav ka labh party ko mil;ta rahana chahiye. is ke sath sath najawano ki foaj tayar honi chahiye jo inke bad elake ko leadersship pradan kar sake. aisa na ho ki leaders ke bina afsarshahi belagam hokar janta ko pratadit karti rahe.
---dalip saharan

maendar singh brar said...

bat bujurag or nojawan leadership ki nahi h. aaj state me congress ki halat gharab hai. magar koi bada leader is or dhayan nahi de raha. meri ray me ex cm shri ashok gahlot ko leader man kar vidhansabha ka election lada jana chahiye ji se bjp ko haraya ja sake.

mahendar singh barar,ex mla sangriya