Sunday 31 March 2013

साधारण वर्कर के लिए मंत्री बनना बड़ी बात-कुन्नर




श्रीगंगानगर-श्रीकरनपुर से निर्दलीय विधायक और कृषि विपणन मंत्री गुरमीत सिंह कुन्नर कहते हैं कि उन्होने 2008 में अशोक गहलोत को समर्थन देकर उनका अहसान चुकता किया है। एचबीसी चैनल को दिये इंटरव्यू में यह कहा। श्री कुन्नर ने कहा कि मैंने समर्थन खुद चल कर दिया। इसलिए दिया कि मुझे विधायक बनाने में अशोक गहलोत का बहुत बड़ा हाथ था....2008 में उनको मेरी जरूरत पड़ी तो मैं खुद चल कर उनके पास गया। रिपोर्टर बीच में पूछा तो 1998 का अहसान चुकता कर दिया....कुन्नर बोले, चुकता कर दिया। आगे की रणनीति क्या होगी,रिपोर्टर ने पूछा। श्री कुन्नर ने कहा,आगे की रणनीति उन पर [ अशोक गहलोत ] पर ही निर्भर है। चुनाव बीजेपी ले लड़ने की बात हो रही है, रिपोर्टर ने कहा। कुन्नर ने जवाब दिया,लोगों के कयास है।मेरी कोई बात नहीं हुई है। मेरी तो अभी कांग्रेस से कोई बात नहीं हुई। ना कांग्रेस ने मुझसे कोई बात की है। रिपोर्टर ने पूछा,कांग्रेस आपको फिर मौका देगी? श्री कुन्नर ने कहा कि यह तो कांग्रेस पर निर्भर करता है। मैंने तो चल कर समर्थन दिया था। किसी का कोई प्रेशर नहीं था। मैंने खुद मना किया था मंत्री पद के लिए...मंत्री पद की जरूरत नहीं है। साधारण कार्यकर्ता के लिए मंत्री बनना बहुत बड़ी बात होती है। हमारी हैसियत क्या थी.....रिपोर्टर उन्हे बताता है कि हैसियत तो थी....इसके साथ साथ वह सरपंच से अब तक के राजनीतिक सफर की चर्चा करता है। रिपोर्टर के एक सवाल के जवाब में श्री कुन्नर ने बताया कि 2008 में कुछ बीच के लोग आए थे बीजेपी की टिकट के लिए। केवल एमएलए बनने के लिए पाला बदलना.... इतनी उम्र हो गई अब...ऐसा नहीं करेंगे... सोचा छोड़ देंगे। इंटरव्यू में उनके मंत्रालय की भी बात चीत हुई।

No comments: