Wednesday 9 September 2009

ये क्या हो रहा है

---- चुटकी----

भारत में
ये,हो क्या
रहा है
बाबू,
सरकार के
तो कुछ भी
नहीं आ रहा
काबू।

4 comments:

भूतनाथ said...

ab sab ham sabko hi sambhaalanaa hogaa baaboo.....!!
bhagvaan nahin karega koi bhi jaadoo....!!

Nirmla Kapila said...

बहुत सही कहा तो महरिशी आप किस लिये हैं जगाईये ना विश्णू जी को

प्रसन्न वदन चतुर्वेदी said...

आप ने एकदम दुरुस्त फ़रमाया है..सब कुछ भगवान भरोसे है.....बहुत बहुत बधाई...

Nitish Raj said...

ये तो सत्य वचन हैं। किसी के भी वश में कुछ नहीं है।