Saturday 5 September 2009

टैंक की सवारी का आनंद

आप में से अधिकांश ने साइकिल से लेकर हवाई जहाज की सवारी कर रखी होगी। टैंक की सवारी किस किस ने की है ये जरुर बताना। इस मामले में श्रीगंगानगर के लोग "भाग्यशाली" हैं जो आजकल टैंक की सवारी का आनंद ले रहें हैं। वहां बताया गया कि टैंक चार लीटर पेट्रोल पीकर एक किलोमीटर का सफर तय करता है। श्रीगंगानगर में सेना की प्रदर्शनी को देखने के लिए आज तो जैसे जिले भर के स्टूडेंट्स आ गए। उस पर नगर निवासियों का जमघट। इतनी जबरदस्त भीड़ कि कहने। आज तो सेना के जवानों ने हैरत में डाल देने वाले आइटम पेश किए। यहाँ के लोगों में से अधिकतर ने यह सब पहली बार देखा। फ़िर देखने का मौका कब मिलेगा कहना मुश्किल है।

3 comments:

नीरज जाट जी said...

कल तो बारिश पड़ी थी, और आज धूल उड़ रही है.

पी.सी.गोदियाल said...

चलो यह भी उनके लिए जीवन का एक यादगार क्षण रहेगा !

हैरान परेशान said...

आप लोग भाग्यशाली हैं जो टैंक की सवारी कर लेते हैं. बाकी आबादी के ८०% ने तो शायद चित्रों में ही देखा हो. नारद जी टैंक पर बैठ कर आप को कैसा लगा, नारद को टैंक पर बैठा देख लोगों को कैसा लगा, इस बाबत भी चर्चा होनी चाहिए.