Saturday 18 April 2009

देख तमाशा जूते का

रतलाम,झाबुआ एवं दाहोद [गुजरात] से प्रकाशित "प्रसारण" अखबार के १२ अप्रैल के अंक में जरनैल सिंह के जूते को खास महत्व दिया है। अखबार ने सन्डे मैगजीन "समग्र" में एक दर्जन से अधिक चुनिन्दा चिठ्ठों की पोस्ट प्रकाशित की। यह सब लेखक के नाम और उसके ब्लॉग के लिंक के साथ प्रकाशित किया गया। इसको प्रस्तुत किया पंकज व्यास ने। श्री व्यास ने बाकायदा अखबार भी भेजा। इस में सरिता अरगरे,राकेश त्रिपाठी,जयराम,अमिताभ फरोग,नारदमुनि जी,गणेश कुमार मिश्रा,केपी चौहान,प्रदीप मिश्र,आदर्श राठोर,कौशलेन्द्र मिश्र,संदीप शर्मा,श्यामल शुक्ल,अक्षतविचार.ब्लागस्पाट.कॉम,तीखीनजर.ब्लागस्पाट.कॉम,सरपंचजी आदि की पोस्ट इस अखबार में प्रकाशित की हैं। अख़बार के संपादक ने दो पृष्ठ पर यह सामग्री दी। अखबार के प्रधान संपादक श्री श्रेणिक कोठारी को साधुवाद। श्री पंकज व्यास को शुक्रिया जिन्होंने इस सब की चर्चा की।

2 comments:

cmpershad said...

अखबारों द्वारा ब्लागरों का समाचार देना अच्छी शुरुआत है।

Murari Pareek said...

अब लगता है है जूता पहनने के अलावा और काम भी आता है!