Tuesday 3 November 2015

शराबबंदी के लिए अनशन कर रहे पूर्व विधायक का निधन

शराबबंदी के लिए अनशन कर रहे पूर्व विधायक का निधन

श्रीगंगानगर। प्रदेश मेँ शराबबंदी के लिए अनशन कर रहे पूर्व विधायक गुरुशरण छाबड़ा का सुबह जयपुर मेँ निधन हो गया। वे जयपुर मेँ ही अनशन पर थे। श्री छाबड़ा मूल रूप से सूरतगढ़ के निवासी थे। वे 1977 मेँ यही से विधायक चुने गए थे। इससे पूर्व आपातकाल के दौरान 1975 मेँ वे काफी समय तक जेल मेँ भी रहे। श्री छाबड़ा ने शराबबंदी के लिए कई बार अनशन किया है। वे सिद्धांतवादी नेता माने जाते थे। उनके निधन के समाचार से सूरतगढ़ स्थित उनके प्रशंसकों और समर्थकों मेँ शोक है। छाबड़ा ने अपने जीवन की अंतिम सांस तक संघर्ष किया 32 दिन से आमरण अनशन कर रहे पूर्व विधायक गुरुशरण जी की आज सुबह 4 बजे मौत हो गई , 



देह दान की जाएगी छाबड़ा की


श्रीगंगानगर। पूर्व विधायक गुरुशरण छाबड़ा के निधन के बाद उनके पुत्रों ने उनके नेत्र दान करवा दिये। उनका अंतिम संस्कार नहीं होगा। क्योंकि छाबड़ा जी ने काफी समय पहले अपनी देह दान की घोषणा कर दी थी। पता चला है कि मृत्यु के बाद की जरूरी पारिवारिक रस्मों के बाद दोपहर 12 बजे उनकी अंतिम यात्रा एसएमएस हॉस्पिटल, जयपुर के लिए रवाना होगी। जहां उनकी देह दान की जाएगी। पारिवारिक सूत्र ने बताया कि वे जाति प्रथा को नहीं मानते थे। इसलिए उन्होने अपने दोनों पुत्रों के विवाह भी दूसरी जातियों की लड़कियों से किए थे। वे खुद भी गुरुशरण भारती कहलाना पसंद करते थे। सूरतगढ़ मेँ अब जो सरकारी पी जी कॉलेज है। इसकी स्थापना करवाने मेँ श्री छाबड़ा का बड़ा योगदान था। वरिष्ठ पत्रकार करणीदान सिंह राजपूत ने ये जानकारी दी। उनके निधन का समाचार मिलते ही कई सामाजिक संगठनों के लोग उनके जयपुर स्थित निवास पहुँच गए है। मीडिया भी पहुंचा हुआ है। शराबबंदी के लिए अनशन कर रहे पूर्व विधायक का निधन

No comments: