Saturday, 24 October, 2009

बीजेपी की पिटाई

----चुटकी-----

कांग्रेस
आई,
भाजपा की
पिटाई,
चौटाला की

लाज बची,
हुड्डा की
खिंचाई।
--------
भक्त जनों कई दिन से अपने प्रदेश की राजधानी गया हुआ था। इस लिए यहाँ से गायब रहा। कोशिश रहेगी आपके साथ हर पल जुड़े रहने की। नारायण नारायण ।

2 comments:

काजल कुमार Kajal Kumar said...

जो जनता चौटालों को चुनने पर उतारू हो उसका या तो भगवन ही मालिक है या फिर उनके सब्र की इन्तहा हो गयी लगती है.

ललित शर्मा said...

राम-राम नारायण जी, यो चोट-आलो, भोजन लाल, खुड्डो सारा एक ही थैली का.........
जनता धोरे कोई दुसरो विकल्प कोनी।,