Thursday 8 April 2010

घर की बात है श्रीमान

---- चुटकी----


नक्सलियों ने
मारे
हमारे जवान,
अब
छोड़ो भी
यह तो
घर की
बात है श्रीमान।

6 comments:

दीर्घतमा said...

sarkar ke muh par karara tamacha.

Udan Tashtari said...

क्या कहें...अति दुखद घटना...

Dhiraj Shah said...

यह दुखद घटना है ।

Anil Pusadkar said...

इसके सिवाय क्या भी किया जा सकता है?

अभिलाषा said...

Bahut dukhdayi ghatna..sarkar ko sochna chahiye.

डॉ. मनोज मिश्र said...

हे प्रभु, क्या हो रहा है? नारायण-नारायण.