Saturday 3 April 2010

सानिया- शोएब का खेल

---- चुटकी----

क्रिकेट-टेनिस
का मेल,
सानिया-शोएब
का नया खेल।

3 comments:

पी.सी.गोदियाल said...

और गेंद पिट गई ! :)

कृष्ण मुरारी प्रसाद said...

सानिया को लेकर मचे घमासान को लेकर मेरे विचार मेरे इस पोस्ट पर देखें...
.......................
सानिया मिर्ज़ा---तुम जहाँ भी रहो खुश रहो..(पुरुषों ने तुम्हारे लिए किया क्या है.?
http://laddoospeaks.blogspot.com/2010/04/blog-post_03.html

Anil Pusadkar said...

खेल हो गया फ़ेल।

नारायण नारायण।