Monday 5 April 2010

अब तो ध्यान हटा लो

-----चुटकी----


सानिया,शोएब
आयशा से
अब तो
हटा लो ध्यान,
देश में
इनके अलावा भी
बहुत
ख़बरें हैं श्रीमान।

4 comments:

डॉ. मनोज मिश्र said...

ख़बरें हैं श्रीमान...सही कहा आपनें-नारायण-नारायण.

Shekhar kumawat said...

नारायण-नारायण.


shubh: prabhat

Udan Tashtari said...

बिल्कुल सही कहा...जय हो!!

हेमन्त कुमार said...

कोई समझे तब न ।
आभार..!