Sunday 24 January 2010

पाकिस्तानी माल नहीं बिका

----चुटकी----

क्रिकेट की मंडी में
नहीं बिका
पाकिस्तानी माल,
ये कूटनीति है
या कुदरत का
कोई कमाल।

7 comments:

Udan Tashtari said...

जिसका भी है...है तो कमाल!

डॉ. मनोज मिश्र said...

कमाल......?
नारायण-नारायण...

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi said...

कमाल तो है।

Rekhaa Prahalad said...

पूछो मोदी से ये सवाल,
कुदरत ने नहीं किया कोई गोलमाल,
ये तो ललित का है धमाल;)

निर्मला कपिला said...

वाह क्या कमाल है बधाई

Mithilesh dubey said...

बहुत खूब।

सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी said...

जले पर नमक...?