Saturday 31 January 2009

राजनीति में ऐश

---- चुटकी----

अपनी अदाओं को
कितना
करवाएगी कैश,
राजनीति में ऐश

गोविन्द गोयल, श्रीगंगानगर

5 comments:

seema gupta said...

" ash ka jvaab nahi"

Regards

Udan Tashtari said...

अब तो बड़े भईय्या के कनेक्शन काम कर रहे हैं.

विवेक सिंह said...

तो क्या हुआ ! जिसके पास जो है वह कैश करवा ही रहा है !

dhiru singh {धीरू सिंह} said...

bolo amar sasura ki jai

राज भाटिय़ा said...

विवेक भाई की बात काबिले गोर है,
राम राम जी की