Monday 15 November 2010

महंगा पड़ा राजा

---- चुटकी---

सरकारी
खजाने का
बजा दिया
बाजा,
हजारों करोड़
में पड़ा
एक राजा।

2 comments:

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ said...

लेकिन पता नहीं राजा का बाजा बजेगा कि नहीं।

ana said...

ha ha ha bilkul satik