Thursday 4 November 2010

चालीस करोड़ कृषि शरणार्थी


विकास डब्ल्यू एस पी लिमिटेड के चेयरमैन बी डी अग्रवाल, जिन्होंने ये लेख लिखा है, का कहना है कि इस लेख को पढ़कर बीजेपी के विधायक अभिषेक मटोरिया सहित कई जनप्रतिनिधियों ने उनसे मुलाकात की। हर किसी ने इस बात पर अचरज जताया कि देश में किसानों के साथ ऐसा हो रहा है और कोई भी राजनीतिक दल बोलता नहीं। श्री अग्रवाल का दावा है कि वे जो कुछ इस लेख में कह रहे हैं वह तथ्यों पर आधारित है। तथ्यों को कोई झुठला नहीं सकता हाँ कोई आँख मूंद ले तो कोई क्या कर सकता है।

3 comments:

राज भाटिय़ा said...

आपको और आपके परिवार को दीपावली की हार्दिक शुभकामाएं
लेख अब पढूंगा, धन्यवाद

राज भाटिय़ा said...

यह सरकार हमारी हे या अमेरिका की? रिपोट पढ कर सिर्फ़ गुस्सा आता हे, धन्यवाद इस सुंदर जानकारी के लिये

VICHAAR SHOONYA said...

आपको सपरिवार दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें।