Friday, 21 August, 2009

बीजेपी-कांग्रेस,कोई फर्क नहीं

----- चुटकी-----

भाजपा कहो
या फ़िर कहो
कांग्रेस आई,
नाम के अलावा
दोनों में अब
कोई
फर्क नहीं है भाई।

6 comments:

कविता said...

Bahut khoob.
Think Scientific Act Scientific

पी.सी.गोदियाल said...

Ek dam sahee baat, goyal sahaab !

अर्कजेश *Arkjesh* said...

bahut sahi likha hai,
bade bhai !

मिलिंद / Milind said...

क्या बात कही है, मुनिवर! मान गये.

वाणी गीत said...

चोर चोर मौसेरे भाई ..!! मगर इसमें सिर्फ कांग्रेस और बीजेपी को ही क्यों लपेटा ..!!

bebakbol said...

बहुत सही कहा आपने...
ये सब एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं...और ये उसी थाली में ही छेद करते हैं...