Sunday 1 August 2010

रिमझिम रिमझिम बूंदे पड़ती

---- चुटकी----

रिमझिम रिमझिम
बूंदें पड़ती
ठंडी चले
बयार रे,
आजा अब तो
गले लग जा
छोड़ सभी
तकरार रे।

-----
आज फ्रेंडशिप डे है।

3 comments:

Parul said...

waah munivar..dhany kar diya panktiyon se..gud one!

Sonal said...

apka blog kaafi acha hai...

mere blog par bhi apka sawagat hai

Banned Area News : 'Blood transfusion can raise heart attack risk'

शागिर्द - ए - रेख्ता said...

एक पाश्चात्य दिवस कि भारतीय अभिव्यक्ति

सुन्दर कविता