Thursday, 18 February, 2010

कश्मीरी पंडित

---- चुटकी----

पी ओ के वालो
लौट के आओ,
कश्मीरी पंडित
भाड़ में जाओ।

8 comments:

संहिता said...

बहुत बढिया ! बहुत बढिया ! दो पँक्तियों मे कश्मीरी पंडितो का दर्द अनुभव करा दिया ।

मो सम कौन ? said...

जियारत करने गये थे न ये, तो लौटने पर इनका सम्मान भी करना होगा। कश्मीरी पंडितों का क्या है, अब तो उन्हें बर्बाद होने की आदत पड ही चुकी है, वैसे भी उनके वोट ही कितने हैं।

नीरज मुसाफिर जाट said...

इसे कहते हैं तुष्टिकरण की राजनीति

भारतीय नागरिक - Indian Citizen said...

यही होना है सभी हिन्दुओं का. क्योंकि आज कश्मीरियों के लिये किसी के दर्द नहीं होता तो कल बाकियों के लिये भी नहीं होगा. कार्टून डेनमार्क में जला भारत. मलेशिया में हिन्दुओं पर जुल्म, हम सब सोते रहे.

मनोज कुमार said...

विचारोत्तेजक!

डॉ. मनोज मिश्र said...

वाह तुष्टिकरण..
नारायण-नारायण.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन said...

नारायण नारायण!

Anonymous said...

:(